कोरोनावायरस का असर भारतीय शेयर बाजार पर।

आदर्श जीवन Disital
पोस्ट नवनीत मिश्रा      
          

  •  कोरोनावायरस का असर भारतीय शेयर  बाजार पर।

कोरोनावायरस को लेकर जैसा कि अंदेशा  लगाया जा रहा था वैसा ही हुआ आज सोमवार सप्ताह के समाप्ति के बाद जब मुम्बई में सेंसेक्स एवं निफटी में भारी गिरावट दर्ज किया।
कोरोनावायरस का असर भारतीय शेयर  बाजार पर।
कोरोनावायरस का असर भारतीय शेयर  बाजार पर।
भारत में कोरोनावायरस को लेकर सेंसेक्स  एवं निफटी में लगभग 10 प्रतिषत से ज्यादा की गिरावट होने के बाद जैसा कि सेंसेक्स एवं निफटी में 45 मिनट के लिए टेडिंग को बंद कर दिया गया।
कोरोनावायरस का असर भारतीय शेयर  बाजार पर।
कोरोनावायरस का असर भारतीय शेयर  बाजार पर।

मुम्बई के दलाल स्ट्रीट  पर उपस्थित एस एंड पी बीएसई सेंसेक्स में सोमवार को 10 प्रतिषत की गिरावट के बाद व्यापार को 45 मिनट के लिए रोक दिया गया क्योंकि तेजी से फैलते कोरोनोवायरस महामारी ने केंद्र को प्रमुख राज्यों में लॉकडाउन का आदेश दिया।

जिससे बढ़ती आशंकाओं के बीच कि प्रकोप अर्थव्यवस्था को बुरी तरह से मार सकता है। निफ्टी 842.45 अंकों की गिरावट के साथ 7903.00 पर बंद हुआ था।

चार दिन की गिरावट के बाद शुक्रवार को इक्विटी बाजारों में एक राहत रैली देखी गई। बीएसई बेंचमार्क 1,627.73 अंक या 5.75 % बढ़कर 29,915.96 पर बंद हुआ।

निफ्टी 482 अंक या 5.83 प्रतिषत बढ़कर 8,745.45 पर बंद हुआ। डॉलर के मुकाबले रुपये में 76.05 का ताजा रिकॉर्ड कम है, नकदी में उड़ान और दुनिया की आरक्षित मुद्रा के लिए बढ़ती तरलता को बढ़ाने की चिंता है।
वैश्विक बाजारों में डैब्प् के एशिया-प्रशांत शेयरों में जापान के बाहर सबसे व्यापक सूचकांक के साथ गिरकर लगभग 4 प्रतिषत फिसल गया, क्योंकि वैश्विक मृत्यु दर 14,000 से अधिक हो गई, आर्थिक गतिविधि में तेजी आई और वैश्विक मंदी की आशंका बढ़ गई।

एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स 10 फीसदी या 2,992 अंक बढ़कर 26,924 के स्तर पर खुला। निफ्टी 50 इंडेक्स 842 अंक या 9.63 प्रतिशत गिरकर 7,903 अंक पर आ गया। हालाँकि, बाजार में बिकवाली देखी गई, लेकिन बैंक और ऑटो स्टॉक सबसे अधिक प्रभावित हुए।

निफ्टी बैंक इंडेक्स 12.7 फीसदी नीचे रहा। तो वही एक्सिस बैंक और आईसीआईसीआई बैंक दोनों ही 10 प्रतिशत से अधिक डूब गए जबकि मारुति सुजुकी इंडिया 9.7 प्रतिशत नीचे रही।

व्यापक बाजार में एसएंडपी बीएसई मिडकैप इंडेक्स 6.9 फीसदी और एस एंड पी बीएसई स्मॉलकैप इंडेक्स 6.4 फीसदी की गिरावट के साथ कारोबार कर रहा था।

एनएसई पर सेक्टोरल इंडेक्स के बीच, निफ्टी बैंक इंडेक्स में एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और इंडसइंड बैंक द्वारा किए गए सुबह के सौदों के दौरान लगभग 11 प्रतिशत टूट गया।

सेंसेक्स के सभी शेयर लाल रंग के समुद्र में कारोबार कर रहे थे। 30 शेयरों के बीएसई बेंचमार्क पर सुबह के सत्र के दौरान एक्सिस बैंक का सबसे खराब प्रदर्शन 20 प्रतिशत फिसल गया था।

कोविड -19 वायरस के प्रसार को रोकने के लिए दुनिया भर में बढ़ रहे लॉकडाउन के कारण वैश्विक शेयरों में गिरावट के कारण शुक्रवार को घरेलू शेयर बाजारों में डुबकी लगाने के लिए भाग्य निर्धारित किया गया था।
सिंगापुर एक्सचेंज में सूचीबद्ध भारत का एनएसई शेयर वायदा 11.5 प्रतिशत से अधिक गिर गया। भारत में, 75 जिले लॉकडाउन के अंतर्गत हैं और दिल्ली और मुंबई जैसे शहरों में कुछ महत्वपूर्ण केंद्रों को गतिरोध में लाया गया है।

बड़ी संख्या में कंपनियों ने पौधों और कारखानों को बंद करने की भी घोषणा की है। अगले कुछ दिनों में क्लोजर के कारण भारी गतिविधि का वजन अधिक हो सकता है क्योंकि वायरस अधिक क्षेत्रों में फैलने पर लॉकडाउन बढ़ सकता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र से उम्मीद की जाती है कि वे उद्योग जगत के शीर्ष नेताओं से मिलेंगे क्योंकि भारत के आर्थिक संकट उपन्यास कोरोनवायरस के प्रकोप के मद्देनजर मजबूत हो सकते हैं।

विशेषज्ञों ने सरकार से आग्रह किया है कि इस स्तर पर व्यापक उद्योग को कुछ रियायतें प्रदान की जाएं ताकि उपन्यास कोरोनरी वायरस संकट से निपटने में मदद मिल सके।

भारत में कोरोनावायरस के कारण जैसा कि आर्थिक स्लो डाउन होना जारी है और जब तक यह नही रूकेगा तब तक कोरोनावायरस के मामले आना नही बन्द हो जाता है। भारत में कोरोनावायरस के की स्टेज दो पर है परन्तु यह मामले को बढ़ने के कारण स्टेज तीन होने की कारण हो सकता हैं।

’किसी प्रकार के लेटेस्ट समाचार पत्र एवं समाचार  चुनाव समाचार अर्थव्यवस्था समाचार आटो समाचार टेक समाचार विभिन्न समाचार के अपडेट के लिए आप डेली आदर्श जीवन को फौलो करें।
( इनपुट )

Post a Comment

आप का कमेंट हमारे लिए उपयोगी है कृपया आप से निवेदन है की आप स्पैम लिंक न डाले
your comment is important for us. we request to you don't share spam links.