कोरोनावायरस को लेकर प्रधानमंत्री का ट्विट- कहा कुछ लोग अभी भी नही समझ रहे है। पढें पूरा खब़र।

आदर्श जीवन Disital
पोस्ट नवनीत मिश्रा    
            

  • कोरोनावायरस को लेकर प्रधानमंत्री का ट्विट- कहा कुछ लोग अभी भी नही समझ रहे है। पढें पूरा खब़र।

कोरोनावायरस के प्रसार को रोकने के लिए 22 मार्च को भारतीय जनता की ओर से जनता के लिए ही प्रधानमंत्री के अनुरोध पर जनता क्रफर्यू लगाया गया और षाम 5 बजे थाली एवं ताली बजाकर ना सिर्फ भारतीय आम जन ने अपितु राजनीति के धुरधर के साथ बालीबुड के अभिनेता ने भी डाक्टर आर्मी मैन और वह लोग जो इस छुपे दुशमन से लड़ रहे लोंगो को सरराहा।
कोरोनावायरस को लेकर प्रधानमंत्री का ट्विट- कहा कुछ लोग अभी भी नही समझ रहे है। पढें पूरा खब़र।
कोरोनावायरस को लेकर प्रधानमंत्री का ट्विट- कहा कुछ लोग अभी भी नही समझ रहे है। पढें पूरा खब़र।

अब भारत के प्रधानमंत्री ने कहा है कि जनता क्रफर्यू को कुछ लोग नही मान रहें है, और यह लोग इस मजाक बना रहे है। जिसको लेकर देश के उन 15 राज्यों के जिला जहा से यह मामले सामने आये है। यह आदेष दिया गया है कि वह इस आदेष का तुरन्त प्रवाह से लागू करवायें।

भारत में कोरोनावायरस को लेकर सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र  में देखने को मिला है। जिसको लेकर पूरा लाकडाउन किया गया इसके बाद 22 मार्च को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल और दिल्ली के उपराज्यपाल बैजल भी प्रेस काफ्रेस में आये और इसको रोकने के लिए दिल्ली में 31 मार्च तक पूर्ण लाकडाउन रखा है परन्तु इसमें कुछ छुट भी दिया है।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत के लोगों को कोरोनोवायरस के प्रसार को गंभीरता से नियंत्रित करने के लिए घोषित लॉकडाउन को गंभीरता से लेने और निर्देशों का विधिवत पालन करने के लिए कहा है। 

कुछ का ध्यान रखना निर्देशों का पालन नहीं कर रहा था, पीएम मोदी ने लोगों से आग्रह किया कि निर्देशों का गंभीरता से पालन करके अपने और अपने परिवार को बचाएं। 

पीएम मोदी ने सोमवार सुबह ट्विटर पर लिखा, ष्भारत में 400 के पार होने की पुष्टि के बाद कई लोगों ने अभी भी लॉकडाउन को गंभीरता से नहीं लिया है। 

कृपया अपने आप को बचाएं, अपने परिवार को बचाएं। प्रधान मंत्री ने राज्य सरकारों से यह भी कहा कि कोविद -19 के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए नियमों का पालन किया जाए। 

कोरोनोवायरस प्रकोप पर लाइव अपडेट का पालन करें सभी अंतर-राज्यीय बसों, यात्री ट्रेनों और मेट्रो सेवाओं को 31 मार्च रविवार तक देश भर में निलंबित कर दिया गया था, जबकि 17 राज्यों और पांच केंद्र शासित प्रदेशों में 80 जिलों को उपन्यास कोरोनोवायरस के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए पूर्ण लॉकडाउन के तहत रखा गया था। 

जिन जिलों में पूर्ण लाकडाउन की घोषणा की गई थी, उनमें महाराष्ट्र और केरल के 10 जिले इसमें सम्मिलित हैं, तो वही उत्तर में स्थित राज्य उत्तर प्रदेश और गुजरात के छह-छह जिले, तो वही एक कर्नाटक और हरियाणा के पांच-पांच जिले इसमें सम्मिलित हैं, तमिलनाडु और पंजाब के तीन-तीन जिले शामिल हैं। 


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा था कि रविवार को 14 घंटे लंबा जनता कर्फ्यू कोरोनोवायरस प्रकोप के खिलाफ लंबी लड़ाई की शुरुआत थी। 

पीएम मोदी ने लोगों से आत्म-प्रतिबंध की उनकी अपील के लिए उनकी जबरदस्त प्रतिक्रिया के लिए सराहना की, साथ ही कहा कि देशवासी किसी भी चुनौती को हरा सकते हैं। 

उन्होंने ट्वीट किया कि कोरोनोवायरस के खिलाफ लड़ाई में सबसे आगे उन लोगों के प्रति आभार व्यक्त करने के लिए भी धन्यवाद दिया। आज का जनता कर्फ्यू 9.00 बजे समाप्त हो सकता है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम जश्न मनाना शुरू करते हैं। 

उन्होंने कहा कि स्व-लगाए गए कर्फ्यू का अवलोकन एक सफलता के रूप में नहीं माना जाना चाहिए और कहा कि यह एक लंबी लड़ाई की शुरुआत है।

उन्होंने कहा, जनता कर्फ्यू एक लंबी लड़ाई की शुरुआत है। आज, देशवासियों ने साबित कर दिया है कि वे सक्षम हैं और एक बार जब वे तय कर लेते हैं कि वे किसी भी चुनौती को एक साथ ले सकते हैं। 

इससे पहले एक ट्वीट में, उन्होंने कहा था कि देश ने प्रत्येक व्यक्ति को धन्यवाद दिया जिसने कोरोनोवायरस के खिलाफ लड़ाई का नेतृत्व किया। मोदी ने लिखा कि, देशवासियों को बहुत-बहुत धन्यवाद। 

उन्होंने कहा कि इस संकल्प और धैर्य के साथ, आइए, इस लंबी लड़ाई के हिस्से के रूप में खुद को (सामाजिक गड़बड़ी) प्रतिबंधित करें। प्रधानमंत्री ने घातक वायरस से लड़ने वालों के प्रति आभार व्यक्त करने के लिए देश की बुजुर्ग महिलाओं को धन्यवाद दिया। 

उन्होंने एक वीडियो भी टैग किया जिसमें दिखाया गया है कि उनकी मां हीराबेन देश में कोरोनोवायरस के प्रकोप से जूझ रहे लोगों की कृतज्ञता की अभिव्यक्ति में थाली पीटती हैं जिसमें सात लोग मारे गए हैं। 

जनता कर्फ्यू के बाद, कई राज्य सरकारों ने रोग के प्रसार की जाँच करने के लिए विभिन्न जिलों में तालाबंदी की घोषणा की। उल्लंघन पर कड़ी कार्रवाई होगी, सरकारों ने चेतावनी दी है। 

दिल्ली सरकार ने पड़ोसी राज्यों और निलंबित सार्वजनिक परिवहन के साथ शहर की सीमाओं को सील कर दिया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को संवाददाताओं से कहा, हमने दुनिया से यह सीखा है कि आप जितना बाहर उद्यम करते हैं, उतना ही कम आप दुनिया के संपर्क में आते हैं। 

उन्होंने कहा कि, हम बार-बार यह कह रहे हैं कि आप कोरोनोवायरस से खुद को बचा सकते हैं। लॉकडाउन के अलावा, केंद्र ने निजी प्रयोगशालाओं में परीक्षण का विस्तार किया है और इसमें अब स्पर्शोन्मुख लोग शामिल होंगे, जिनकी पुष्टि मामलों से संपर्क है।

प्रधानमंत्री नरेंन्द्र मोदी ने बताया है कि बहुत सारे लोग ऐसे है कि जो किसी भी प्रकार से इस बात को समझे कि कोषिष करते है कि यह कोरोनावायरस के खतरे को समझे की कोषिष नही करते है या समझने की कोषिष करती है।

प्रधानमंत्री ने सभी राज्यों को कहा है कि वह इस नियम को प्रभावी रूप से लागू करवायें। उत्तर प्रदेष के मुुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 22 मार्च को जनता क्रफर्यू को देखते हुए उत्तर प्रदेश  के 15 जिले जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गृहनगर भी है। को लाकडाउन कर दिया गया है।

’किसी प्रकार के लेटेस्ट समाचार पत्र एवं समाचार  चुनाव समाचार अर्थव्यवस्था समाचार आटो समाचार टेक समाचार विभिन्न समाचार के अपडेट के लिए आप डेली आदर्श जीवन को फौलो करें।

Post a Comment

आप का कमेंट हमारे लिए उपयोगी है कृपया आप से निवेदन है की आप स्पैम लिंक न डाले
your comment is important for us. we request to you don't share spam links.