ब्रिटेन के शाही परिवार के सदस्य प्रिंस चाल्र्स का कोरोना टेस्ट पाजिटिव।

आदर्श जीवन Disital।
पोस्ट नवनीत मिश्रा       
         
  • ब्रिटेन के शाही परिवार के सदस्य प्रिंस चाल्र्स का कोरोना टेस्ट पाजिटिव।

विदेश - ब्रिटेन के शाही परिवार के सदस्य प्रिंस चाल्र्स का कोरोना टेस्ट पाजीटिव पाया गया है। इस टेस्ट में यह पता चला है कि ब्रिटिश  के शाही परिवार के सदस्य प्रिंस चाल्र्स का कोरोना टेस्ट किया गया था।

ब्रिटेन के शाही परिवार ने कोरोनावायरस के बढ़ते केस को देखते हुए ब्रिटिष महरानी एलिजाबेथ अपने तत्कालीन किले को छोड़कर कही और सिफट हो गई थी।
ब्रिटेन के शाही परिवार के सदस्य प्रिंस चाल्र्स का कोरोना टेस्ट पाजिटिव।
ब्रिटेन के शाही परिवार के सदस्य प्रिंस चाल्र्स का कोरोना टेस्ट पाजिटिव।
प्रिंस को अभी हाल में देखा गया था कि किसी कार्यक्रम में ब्रिटेन में आयोजित किया गया था उसमें सरीक हुए थें जिसमें उन्होनें कई लोगो से मिले थे।  उन्होने उन लोगो से भारतीय अंदाज में दोनों हाथों को जोड़कर मिले थें।

उनके कार्यालय ने बुधवार को कहा था कि ब्रिटेन के राजकुमार चार्ल्स, सबसे बड़े बेटे और महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के वारिस, नए कोरोनावायरस के हल्के लक्षण दिखा रहे हैं, लेकिन अन्यथा अच्छे स्वास्थ्य के लिए उनका टेस्ट किया गया था।

71 वर्षीय और उनकी पत्नी कैमिला का भी टेस्ट किया गया जिसके बाद टेस्ट हुआ जिसके बाद उनमें कोविड-19 नहीं पाया गया हैंे।

क्लेरेंस हाउस ने इस पूरी बात करते हुए कहा कि वर्तमान में स्कॉटलैंड में आत्म-पृथक हैं, प्रिंस ऑफ वेल्स ने कोरोनावायरस के लिए सकारात्मक परीक्षण किया है, यह एक बयान में कहा गया, अपने आधिकारिक शीर्षक का उपयोग करते हुए। 

वह हल्के लक्षणों को प्रदर्शित कर रहे हैं, लेकिन अन्यथा अच्छे स्वास्थ्य में बने हुए हैं और पिछले कुछ दिनों से हमेशा की तरह घर से काम कर रहे हैं। 

डचेस ऑफ कॉर्नवाल (कैमिला) का भी परीक्षण किया गया है, लेकिन इसमें वायरस नहीं है। सरकार और चिकित्सा सलाह के अनुसार, राजकुमार और डचेस अब स्कॉटलैंड में घर पर आत्म-पृथक हैं।
इस जोड़े ने उत्तर-स्कॉटलैंड के एबरडीनशायर में राज्य द्वारा संचालित राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (एनएचएस) द्वारा परीक्षण किया गया था, उन्होंने कहा, यह पता लगाना संभव नहीं है कि राजकुमार ने वायरस को किस वजह से पकड़ा था। 

हाल के हफ्तों के दौरान उसने अपनी सार्वजनिक भूमिका में जितनी व्यस्तताएं बरती हैं, उतनी तेजी से बढ़ रही हैं। महारानी एलिजाबेथ द्वितीय, 93, और उनके पति, 98 वर्षीय राजकुमार फिलिप, 19 मार्च को लंदन के बाहर विंडसर कैसल में सेवानिवृत्त हुए। 

कोरोनोवायरस के प्रकोप के कारण वे अपने ईस्टर को एक सप्ताह तक आगे ले आए। ब्रिटेन में बीमारी के 8,000 से अधिक पुष्ट मामले हैं, और 422 लोगों की मृत्यु हो गई है। 

71 वर्षीय प्रिंस चार्ल्स इस समय स्कॉटलैंड में हैं। इस हफ्ते की शुरुआत में, उनके माता-पिता, महारानी एलिजाबेथ द्वितीय और प्रिंस फिलिप बकिंघम पैलेस से विंडसर कैसल के लिए चले गए थे, क्योंकि पैलेस के कर्मचारी ने कोरोनोवायरस के उपन्यास के लिए सकारात्मक परीक्षण किया था।

इस कोरोनावायरस के कारण न सिर्फ आम जन अपितु बड़े-बड़े नेता और उसकी पत्नी भी संक्रमित पायी जा रही है। कनाडा की प्रधानमंत्री की पत्नी को भी टेस्ट में कोरोनावायरस से संक्रमित पाया गया था। कोरोनावायरस के प्रकोप को असर यह है कि आय दिन मामले बढतें जा रहे हैं।

भारत में अब 21 दिन का पूर्ण रूप से लाकडाउन में डाल दिया गया है, प्रधानमंत्री ने देष के नाम पर किये गये संबोधन में कहा गया है कि वह लोग जो जनता क्रफर्यू को बस एक आम लाॅकडाउन समझ कर बाहर निकल जाते उनको भी आगाह किया।

’किसी प्रकार के लेटेस्ट समाचार पत्र एवं समाचार  चुनाव समाचार अर्थव्यवस्था समाचार आटो समाचार टेक समाचार विभिन्न समाचार के अपडेट के लिए आप डेली आदर्श जीवन को फौलो करें।
( इनपुट )

Post a Comment

आप का कमेंट हमारे लिए उपयोगी है कृपया आप से निवेदन है की आप स्पैम लिंक न डाले
your comment is important for us. we request to you don't share spam links.