रामजन्म भूमि के निर्माण का पहला कदम पूरा, पूरा खबर पढ़े।

आदर्श जीवन Disital
पोस्ट नवनीत मिश्रा    
            
  • रामजन्म भूमि के निर्माण का पहला कदम पूरा, पूरा खबर पढ़े।

अयोध्या- आज भारत के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ अयोध्या में भगवान राम के मन्दिर के शिला पूजन शामिल हुये हैं। आज हिन्दू धर्म मे आज का दिन बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता हैं।
रामजन्म भूमि के निर्माण का पहला कदम पूरा, पूरा खबर पढ़े।
रामजन्म भूमि के निर्माण का पहला कदम पूरा, पूरा खबर पढ़े।
भव्य राम मंदिर निर्माण का आज पहला चरण पूरा हुआ है. रामलला आज बुधवार को नवरात्रि के पहले दिन अस्थायी फाइबर मंदिर में शिफ्ट हो गए. इस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे. उन्होंने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी।

आज के दिन अयोध्या के मन्दिर निर्माण की कार्यवाही शुरू हो गई है। इसमें भगवान राम की प्रतिमा को त्रिपाल से निकाल करके अस्थायी रूप से निर्माण मानस भवन के पास सिफट कर दिया गया।

आज इसकों लेकर 11 लाख की चेक को भी सौपा गया। इस कार्यक्रम में बहुत सारी लोग  भी दिखाई दिया, जो कि बहुत चिंता का बात हो गई हैं। 

इसका मुख्य कारण यह है कि कल रात 8 बजें देश के नाम संबोधन करतें हुए प्रधानमंत्री मोदी ने यह कहा था कि पूर्ण भारत में लाकडाउन लगा है जिसके कारण आप सुबह से प्रशासन द्वारा इसको पूर्ण करने के लिए सख्ती भी देखने को मिला हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने देश के नाम संबोधन में कहा कि देश के राज्य की सभी सरकार से उनका पहला कदम स्वास्थ्य सेवा पर ही मुख्य रूप से रखने के लिए कहा हैं।

भारत में लागू इस लाकडाउन क्रफर्यू में प्रशासन को यह निर्देषित किया गया है कि एक जगह पर 5 से अधिक लोगो को एकत्रित होने नही दिया जाये। परन्तु आयोध्या में मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में लोग  को देखने  को मिला।

यदि देश के सबसे बड़े राज्य के मुख्यमंत्री होकर यदि ऐसी गलती करेंगे ता सूबे की मुख्यमंत्री किसी को कैसे कहेगें कि वह इस नियम को या उनके प्रशासन को पालन करने के लिए कैसे कहेगें।

आप सभी को बता दें कि यह कार्यक्रम भगवान राम के लिए भव्य मंदिर बनाने के लिए किया गया हैं। जिसमें भगवान राम को सुबह तीन 3 बजें स्नान करवा कर उनका मानस भवन के पास फाइबर के बने अस्थायी निवास में स्फिट कर दिया गया हैं। 

इस कार्यक्रम के दौरान आयोध्या में इसके देखरेख करने वाले लोग उपस्थित थें। जिसमें मुख्यतः रूप से रामजन्मभूमि के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास, ट्रस्ट के सदस्य राजा बिमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र, सदस्य अनिल मिश्रा, ट्रस्ट के महासचिव चपंत राय, दिगंबर अखाड़े के महंत सुरेश दास, अवनीस अवस्थी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद थे।

अयोध्या प्रशासन इतनी भीड़ को लेकर सजग नही था, या वह अंदाजा नही लागा रहा था कि लोगो के जमा होने की उम्मीद नही कर रहें थें। यह अयोध्या प्रशासन की सबसे बड़ी गलती है और यह चूक भी हैं। 

’किसी प्रकार के लेटेस्ट समाचार पत्र एवं समाचार  चुनाव समाचार अर्थव्यवस्था समाचार आटो समाचार टेक समाचार विभिन्न समाचार के अपडेट के लिए आप डेली आदर्श जीवन को फौलो करें।

Post a Comment

आप का कमेंट हमारे लिए उपयोगी है कृपया आप से निवेदन है की आप स्पैम लिंक न डाले
your comment is important for us. we request to you don't share spam links.