मुम्बई में लगभग 15 करोड़ की मास्क की कालाबाजारी का पर्दाफाश ।

आदर्श जीवन Disital
पोस्ट नवनीत मिश्रा                

  •  मुम्बई में लगभग 15 करोड़ की मास्क की कालाबाजारी का पर्दाफाश ।

 मुम्बई - जब से भारत में कोरोनावायरस के मामले बढ़ने के लिए भारत में हैड सैनइटाइजर फेस मास्क को लेकर एक निर्वात की स्थिती को देखने को मिला हैं। जिस भी दवाखाना की दुकान हो वहा पर न तो मास्क मिल रहा तो वही किसी भी प्रकार का अल्कोहल बेस सैनेटाइजर भी नहीं मिल रहा है।
 
 मुम्बई में लगभग 15 करोड़ की मास्क की कालाबाजारी का पर्दाफाश ।
 मुम्बई में लगभग 15 करोड़ की मास्क की कालाबाजारी का पर्दाफाश ।
आदर्श जीवन समाचार पत्र की एक पड़ताल में गोरखपुर में कई दवा की दुकान में देखने को मिल रहा है कि वहा पर हैड सैनेटाइजर का कोई भी नामों निशान नही मिला। गोरखपुर में दवा के दुकानदार से पूछने पर पता चला कि गोरखपुर कई जगह पर इसकी कोई बिक्री नही हुई क्योकि यह मिल ही नही रहा हैं।

भारत में इस समय इस महामारी से लड़ने के बजाय लोग अपनी जमा खोरी करने में लगे हैं। उन को यह समझ नहीं आता है कि इस समय लोग को क्या और किस चीज की जरूरत हैं। 

इसी दौर में एक मामला मुम्बई में देखने को मिला जब मुंबई क्राइम ब्रांच ने मुंबई से बड़ी मात्रा में फेस मास्क जब्त किए हैं। मुंबई क्राइम ब्रांच की यूनिट 9 ने 25.22 लाख की मात्रा में उच्च गुणवत्ता वाले मास्क जब्त किए, जिसकी कीमत सोमवार शाम को 15 करोड़ रुपये तक आकी गई है।

कोरोनोवायरस महामारी के दौरान, भारत सरकार द्वारा इस सभी जरूरत के समान जैसे हैंड सैनिटाइजर और फेस मास्क आवश्यक वस्तुओं की सूची में लाए गए हैं जिससे की उनका कालाबाजारी करने वाले लोगो पर पूर्ण रूप से प्रतिबंधित है। 

पुलिस अधिकारियों ने कहा कि उच्च गुणवत्ता वाले एन -95 मास्क जो वर्तमान में उच्च मांग में हैं और कम आपूर्ति में मुंबई हवाई अड्डे के एयर कार्गो के पास जब्त किए गए थे। 

मुंबई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के बाहर एयर कार्गो के पास कुल 3.25 लाख मास्क जब्त किए गए, जबकि 22 लाख मास्क भिवंडी के एक गोदाम से जब्त किए गए। 

पुलिस अधिकारियों ने मामले में चार लोगों को आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया है। महाराष्ट्र के गृह मंत्री ने कहा, बाजार में भारी मात्रा में मास्क की कमी है और पुलिस अधिकारियों को इन भारी मात्रा में मास्क के बारे में पता चला और फिर ऑपरेशन को अंजाम दिया गया। 

राज्य के लिए अनिल देशमुख ने कहा कि आवश्यक वस्तुओं की होर्डिंग और कालाबाजारी करने वालों पर कड़ी कार्रवाई होगी। आरोपी ब्लैक मार्केट में 20 रुपये में 3 प्लाई फेस मास्क बेच रहे थे, जिसकी कीमत 2 रुपये है। जबकि एन -95 मास्क की कीमत लगभग 100 रुपये है और इसमें शामिल आरोपी बाजार में लगभग 300 रुपये में बेच रहे हैं। 

गिरफ्तार आरोपियों की पहचान बालाजी मुत्तुपंडी नादर, शाहरुख अखिल शेख, मिहिर दर्शन पटेल और गुलाम मुर्तुजा मुंसिर के रूप में की गई है। नादर एक ऑपरेटर है और पटेल एक कस्टम हाउसिंग एजेंट है जबकि शेख और मुंशीर गोदाम मालिक हैं। 

आरोपी कथित रूप से कोविद 19 महामारी के कारण फेस मास्क के निर्यात पर सख्त सरकारी परिपत्र पर प्रतिबंध लगाने के बावजूद फेस मास्क का निर्यात करने की योजना बना रहे थे। 

मुंबई अपराध शाखा से डीसीपी अकबर पठान ने बताया कि हमने वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक महेश देसाई की अगुवाई में चार टीमों का गठन किया था और पहली छापेमारी सहर के अखिल गोदाम और गुलाम गोदाम में की गई थी। 

जब आरोपियों से पूछताछ की गई, तो उन्होंने आगे भिवंडी में गोदाम के बारे में खुलासा किया और उसके अनुसार छापे मारे गए। 

कोरोनावायरस को लेकर यदि आप को लगता है कि कही आस पास आपके कालाबाजारी हो रही यदि आप से किसी भी प्रकार के सैनटाइजर या मास्क हैड वास्स को लेकर आप से ज्यादा पैसा मागता है तो आप उसकी फोटो को खीच कर स्वास्थ्य विभाग की ट्विटर हैंेडल पर षिकायत करें या आप के आस पास की पुलिस चैकी को रिर्पाट करें।
’किसी प्रकार के लेटेस्ट समाचार पत्र एवं समाचार  चुनाव समाचार अर्थव्यवस्था समाचार आटो समाचार टेक समाचार विभिन्न समाचार के अपडेट के लिए आप डेली आदर्श जीवन को फौलो करें।

Post a Comment

आप का कमेंट हमारे लिए उपयोगी है कृपया आप से निवेदन है की आप स्पैम लिंक न डाले
your comment is important for us. we request to you don't share spam links.